शायरी (Shayari)

अब शेयर कीजिए मन पसंद शायरी अपने दोस्तों को

दर्देदिल शायरी

Heartbreak Shayari

Cityscape

Sed do eiusmod tempor incididunt ut labore et dolore magna aliqua eiusmod tempor.

निदा फाजली-

बेनाम सा ये दर्द ठहर क्यों नहीं जाता
जो बीत गया है वो गुजर क्यों नहीं जाता .

फ़राज़-

अब के हम बिछड़े तो शायद कभी ख़्वाबों में मिलेंजिस तरह सूखे हुए फूल किताबों में मिलें

आरिफ़ जलाली-

ख़ुद अपनी मस्ती है जिस ने मचाई है हलचल
नशा शराब में होता तो नाचती बोतल .

दीपक कुमार-

पीता था शराब उसे सोचकर जिसने पीना छुड़ा दियाआज उसी के गम ने देवदास बना दिया!!!!

ग़ालिब-

आह को चाहिए इक उम्र असर होने तक, कौन जीता है तेरी जुल्फ के सर होने तक

दीपक कुमार-

मेरी फितरत में नहीं उन परिंदों से दोस्ती रखना, जिन्हें हर किसी के साथ उड़ने का शोक हो.

सभी श्रेणियाँ

All Categories